No icon

इनकम टैक्स रिटर्न: सैलरी कम या कटौती बढ़ा-चढ़ाकर बताई तो लगेगा 200% तक जुर्माना

 

सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली 
टैक्स छिपाने या बचाने की कोई भी गलत कोशिश आपको बड़ी परेशानी में डाल सकती है। इनकम टैक्स विभाग पहले ही इससे जुड़ी चेतावनी दे चुका है। अगर कोई भी शख्स ऐसे काम में लिप्त पाया गया तो आईटी डिपार्टमेंट उससे जुर्माना वसूलेगा। टैक्स से जुड़ी फेराफेरी करने पर टैक्स से बचाई गई कुल रकम पर 50 से 200 प्रतिशत तक जुर्माना लगाया जा सकता है

आईटी की यह चेतावनी खासकर सैलरीड टैक्सपेयर्स के लिए है क्योंकि हाल में बेंगलुरु का एक ऐसा ही मामला सामने आया था। वहां के जिस रैकिट का पर्दाफाश हुआ, वह इनकम कम लिखने या कटौती को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने जैसे हथकंडे बताता था। गिरोह एंप्लॉयीज को फर्जी तरीके से टैक्स रिफंड हासिल करने में मदद करता था। इनकम कम बताने या कटौती को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने जैसे हथकंडे जानी-पहचानी कंपनियों के कर्मचारी तक अपनाते पाए गए हैं। 

इस बार भरना होगा नया ITR फॉर्म, जानें क्या बदला 

क्या होगी 'सजा'? 
टैक्स2विन.इन के सीईओ अभिषेक सोनी इसके बारे में विस्तार से बात करते हैं। उन्होंने बताया कि उल्लंघन करनेवाले को सेक्शन 270A के तहत सजा मिल सकती है। इस सेक्शन को नोटबंदी के बाद संशोधन करके पहले से मजबूत बनाया गया है। 

सेक्शन 270A के मुताबिक, अगर इनकम टैक्स रिटर्न में गलत जानकारी दी गई तो टैक्स देनदारी या छिपाई गई रकम पर 200 प्रतिशत जुर्माना लग सकता है। वहीं अगर कुछ अन्य कारणों की वजह से अलग इनकम कम बताई गई होगी तो देनदारी या छिपाई गई रकम पर 50 प्रतिशत जुर्माना होगा। इतना ही नहीं विभाग ने कहा है कि ऐसे टैक्सपेयर्स के एंप्लॉयर को भी इसकी जानकारी दी जाएगी कि उनके यहां काम करनेवाला शख्स गलत इनकम टैक्स रिटर्न भर रहा है। 

Comment